Home न्यूज़ चाय बगान श्रमिकों की मजदूरी में अल्प बढ़ोतरी का विरोध

चाय बगान श्रमिकों की मजदूरी में अल्प बढ़ोतरी का विरोध

SHARE

कोलकाता। बंगाल में चाय बगान मजदूरों ने सरकार द्वारा उनकी मजदूरी में की गई अंतरिम वृद्धि को स्वीकार करने से मना कर दिया है।

मजदूर यूनियन के एक नेता ने सोमवार को बताया कि सरकार ने चाय बगान श्रमिकों की दैनिक मजदूरी में 17.50 रुपये बढ़ाकर एक जनवरी 2018 से 150 रुपये कर दी है जो उन्हें स्वीकार नहीं है।

प्रदेश के श्रम मंत्री मलय घटक ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, हमने राज्य में एक जनवरी से अंतरिम उपाय के तौर पर चाय बागान श्रमिकों की न्यूनतम मजदूरी में 17.50 रुपये की बढ़ोतरी का आग्रह किया है।

मजदूर यूनियन का कहना है कि सरकार के साथ तीन साल का पिछला समझौता 31 मार्च 2017 को ही समाप्त हो गया है तो फिर सरकार को नई दर एक अप्रैल 2017 से लागू करनी चाहिए। और, इतनी कम बढ़ोतरी भी मंजूर नहीं है।

चाय बगान मजदूर संघों के संगठन ज्वाइंट फोरम ऑफ ट्रेड यूनियन्स के संयोजक व सीटू के महासचिव (चाय उद्योग) जियाउल आलम ने आईएएनएस से कहा, हम न्यूनतम मजदूरी में अत्यल्प बढ़ोतरी का विरोध कर रहे हैं। अंतिम समझौता 31 मार्च 2017 को समाप्त हो गया था तो सरकार को इसे एक अप्रैल 2017 से ही लागू करना चाहिए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here