Home देश खालिस्तान समर्थक रैली पर फैसला ब्रिटेन को करना है : भारत

खालिस्तान समर्थक रैली पर फैसला ब्रिटेन को करना है : भारत

नई दिल्ली : लंदन में 12 अगस्त को होने वाले खलिस्तान समर्थक रैली से पहले भारत ने कहा है कि इस बारे में फैसला ब्रिटेन को करना है कि उसे हिंसा और अलगाववाद को बढ़ावा देने वाली इस रैली की अनुमति देना है या नहीं।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, हमने ब्रिटेन का ध्यान इस ओर दिलाया है कि लंदन में होने वाला कार्यक्रम एक अलगाववादी गतिविधि है, जो भारत की क्षेत्रीय अखंडता का उल्लंघन करता है।

उन्होंने कहा, हमने कहा है कि यह हिंसा, अलगाववाद और घृणा को बढ़ावा देना चाहता है। हम उम्मीद करते हैं इस तरह के मामलों पर निर्णय लेते समय वे (ब्रिटेन) आपसी संबंधों को ध्यान में रखेंगे।

सिख फॉर जस्टिस (एसएफजे) कट्टरपंथी मानवाधिकार समूह ने घोषणा की है कि वह 12 अगस्त को लंदन में ट्राफ्लगर स्क्वायर में भारतीय राज्य पंजाब के लिए स्वतंत्रता जनमत संग्रह कराएगा।

भारत ने इस मामले को पिछले महीने ब्रिटेन के समक्ष उठाया था।

विभिन्न रिपोर्टो के मुताबिक, अन्य यूरोपीय देशों कनाडा और अमेरिका में इसी तरह के कार्यक्रमों की योजना बनाई जा रही है।

कुमार ने कहा कि भारतीय राजदूतों को ऐसे मामले को संबंधित देशों के साथ उठाने का निर्देश दिया गया है।

उन्होंने कहा, हम जानते हैं कि कुछ अन्य स्थानों में भी इसी तरह की योजना बनाई जा रही है और हमने अपने राजदूतों को लिखा है कि वे संबंधित देशों के विदेशी कार्यालयों के साथ इस मामले को उठाएं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here