Home टेक्नोलॉजी भविष्य में पूंजी में बाधा आएगी : बीएसई अध्यक्ष

भविष्य में पूंजी में बाधा आएगी : बीएसई अध्यक्ष

कोलकाता : भू-राजनीति के कारण भूमंडलीकरण से पीछे हटने से भविष्य में पूंजी में बाधा आ सकती है। देश के प्रमुख शेयर बाजार बीएसई लि. के अध्यक्ष एस. रवि ने बुधवार को यह बातें कही।

कॉर्पोरेट प्रशासन पर जोर देते हुए, उन्होंने यह भी कहा कि वित्तीय क्षेत्र में डेटा एनालिटिक्स, कृत्रिम बुद्धिमत्ता और रोबोटिक्स की भूमिका बहुत अधिक होगी।

रवि ने मर्चेन्ट्स चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा आयोजित एक इंटरैक्टिव सत्र में कहा, पूंजी में परेशानी आनेवाली है, क्योंकि भू-राजनीति के कारण गैर-भूमंडलीकरण होने जा रहा है। हरेक देश अपने अंदर देख रहा है और हरेक व्यवसाय को सही प्रकार की पूंजी की तलाश करनी होगी। शासन ढांचा मजबूत होगा और रणनीतिक गठबंधन महत्वपूर्ण होगा।

उन्होंने कहा कि पूंजी का प्रभावी प्रबंधन महत्वपूर्ण होने जा रहा है।

शासन को एक बहुत ही महत्वपूर्ण पहलू बताते हुए उन्होंने यह भी कहा कि हमें शासन पर बहुत अधिक जोर नहीं देना चाहिए, क्योंकि शासन और अनुपालन की लागत होती है।

उन्होंने कहा, (कार्पोरेट) शासन मजबूत हो सकता है, अगर पूर्णकालिक परिचालन करनेवाले लोग यानी कार्यकारी निदेशकों और स्वतंत्र निदेशकों की भूमिका स्पष्ट हो। कोटक समिति (की सिफारिशें) स्वतंत्र अध्यक्ष पर लागू होने जा रही है, जिससे पूरी प्रक्रिया में मदद मिलेगी और कार्रवाई की अच्छी निगरानी की जाएगी। निदेशक मंडल की गुणवत्ता भी महत्वपूर्ण है।

उन्होंने कहा, वित्तीय क्षेत्र में डेटा एनालिटिक्स, कृत्रिम बुद्धिमत्ता और रोबोटिक्स की भूमिका बहुत अधिक होगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here