Home राज्य जम्मू कश्मीर ईडी ने कश्मीरी कारोबारी को नोटिस भेजा

ईडी ने कश्मीरी कारोबारी को नोटिस भेजा

SHARE

नई दिल्ली : प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कश्मीरी कारोबारी जहूर अहमद शाह वाताली को प्रदेश में आतंकी संगठनों को विदेशी सहायता दिलवाने में सक्रिय वाहक के तौर पर काम करने के आरोप में कारण बताओ नोटिस भेजा है। यह जानकारी शुक्रवार को एजेंसी के एक अधिकारी ने दी।

कारोबारी को नोटिस विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) के तहत भेजा गया है।

ईडी की ओर से जारी बयान के मुताबिक, खुफिया जानकारी के आधार पर वाताली के खिलाफ फेमा के तहत जांच शुरू की गई। जांच में प्रकाश में आया है कि उन्होंने खुद को अनिवासी भारतीय नहीं बताते हुए अनिवासी बाहरी व अनिवासी साधारण खातों का उपयोग करते रहे।

ईडी ने बताया, उन्होंने बाद में विदेशों से इन खातों में वर्ष 2002-2003 और 2008-2009 के दौरान 62,93,711 रुपये की रकम भेजी।

ईडी ने बताया कि वाताली विदेशों से मंगाई गई इस रकम के संबंध में संतोषप्रद जवाब नहीं दे पाए। इस सिलसिले में फेमा के तहत जांच जारी है।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठनों से धन मंगाने के एक चैनल के तौर पर सक्रिय रहने और जम्मू-कश्मीर में हुर्रियत के नेताओं व अलगाववादी ताकतों को मुहैया करवाने के आरोप में वाताली को 17 अगस्त, 2017 को गिरफ्तार किया था।

एनआईए ने वाताली व अन्य के खिलाफ जनवरी 2018 में दर्ज अपने आरोपपत्र में उल्लेख किया है कि पाकिस्तानी दूतावास के कुछ वरिष्ठ अधिकारियों ने सैयद अलीशाह गिलानी के दामाद अल्ताफ शाह समेत हुर्रियत के नेताओं को जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले करवाने, हिंसा व पत्थरबाजी की घटनाओं को अंजाम देने के लिए धन मुहैया करवाया था।

एनआईए के आरोपपत्र में वाताली का नाम धन मुहैया करवाने में वाहक के तौर पर दर्ज किया गया है। आरोप है कि वाताली ने दुबई स्थित अपने कारोबार के माध्यम से पाकिस्तान से कश्मीरी अलगावादियों को धन मुहैया करवाया था।

आरोप है कि दुबई में फर्जी कंपनी बनाकर जम्मू-कश्मीर में हुरियत नेताओं को पैसे भेजे गए।

मुंबई में 2008 में हुए आतंकी हमले के आरोपी लश्कर-ए-तैयबा के सरगना हाफिज सईद और हिज्बुल मुजाहिदीन के नेता सैयद सलाउद्दीन को जम्मू-कश्मीर में आतंकी गतिविधि के लिए भेजे गए धन की हर लेन-देन की जानकारी थी। दोनों आतंकी संगठनों के सरगना पाकिस्तान में रहते हैं।

ईडी धन शोधन निवारण अधिनियम के तहत भी जम्मू-कश्मीर में आतंकी संगठनों को धन मुहैया करवाने के सिलसिले में वाताली व अन्य के खिलाफ जांच कर रही है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here