Home देश भारत, यूरोपीय संघ का संकल्प, दिल्ली को करेंगे प्लास्टिक मुक्त

भारत, यूरोपीय संघ का संकल्प, दिल्ली को करेंगे प्लास्टिक मुक्त

नई दिल्ली : इंडिया गेट पर शुक्रवार को दौड़ लगाते हुए प्लास्टिक की थैलियां और कचरे जमा करते देसी-विदेशी लोगों का समूह एक विशेष मिशन पर थे। दरअसल, इन्होंने दिल्ली को प्लास्टिक मुक्त करने का बीड़ा उठाया है। कचरा साफ करने का यह तरीका स्वीडन का है।

पांच जून को विश्व पर्यावरण दिवस से पहले स्वीडन दूतावास की ओर से शुक्रवार को यहां कचरा इकट्ठा करने के कार्यक्रम का आयोजन किया गया था, जिसमें यूरोपीय संघ और भारत के प्लोगर्स (दौड़ लगाते हुए कचरा जमा करने वाले) ने हिस्सा लिया।

यह यूरोपीय संघ की ओर से भारत में चलाए जा रहे पर्यावरण संबंधी कार्यक्रम का हिस्सा था। भारतीय उद्योग परिसंघ की ओर से आयोजित सम्मेलन का विषय बीट प्लास्टिक पॉल्यूशन यानी प्लास्टिक प्रदूषण को परास्त करो था।

भारत में यूरोपीय संघ (ईयू) के राजदूत टॉमस्ज कोजलोवस्की ने दुनियाभर में पर्यावरण के मसलों को हल करने के लिए भारत के नेताओं को बधाइयां दीं और कहा, स्वच्छ ऊर्जा और जलवायु परिवर्तन, जल, स्मार्ट व टिकाऊ शहरीकरण, वायु गुणवत्ता और संसाधनों की कार्यक्षमता के क्षेत्र में भारत यूरोपीय संघ का प्रमुख साझेदार है।

राजदूत ने कहा कि यूरोपीय संघ के पर्यावरण आयुक्त 50 ईयू कारोबारियों के प्रतिनिधिमंडल के साथ सितंबर में भारत में होने वाले सीआईआई सस्टैनेबिलिटी समिट में हिस्सा लेंगे।

यूरोपीय संघ के प्रनिनिधिमंडल और ईयू के सदस्य देशों के दूतावासों की ओर से पांच जून को ग्रीन प्लेज अर्थात हरित संकल्प की घोषणा की जा सकती है, जिसका मकसद प्लास्टिक के उत्पादों के उपयोग बंद करना, ऊर्जा और जल संसाधन की बचत करना और कचरों का प्रबंधन करना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here