Home न्यूज़ लपांग हटे, लिंगदोह बने मेघालय प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष

लपांग हटे, लिंगदोह बने मेघालय प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष

SHARE
नई दिल्ली :कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को डी.डी. लपांग को मेघालय प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटाकर सेलेस्टीन लिंगदोह को राज्य का पार्टी प्रमुख बनाया।
प्रदेश नेतृत्व में यह फेरबदल आगामी विधानसभा चुनाव के पहले कांग्रेस के पांच विधायकों के विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने के एक दिन बाद किया गया है।कांग्रेस विधायकों ने विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में शामिल नेशनल पीपल्स पार्टी (एनपीपी) के टिकट पर चुनाव लड़ने के मकसद से इस्तीफा दिया है।

लिंगदोह मुख्यमंत्री मुकुल संगमा की अगुवाई वाली सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं। शिलांग से लोकसभा सदस्य विंसेट एच. पाला को प्रदेश कांग्रेस कमेटी में कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है।

हालांकि लापांग को संतुष्ट करने के इरादे से राहुल ने उन्हें प्रदेश कांग्रेस कमेटी में सलाहकार की जिम्मेदारी सौंपी है। डी.डी. लपांग प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री हैं।

लिंगदोह को आगामी विधानसभा चुनाव के लिए तेरह सदस्यीय प्रदेश चुनाव समिति का अध्यक्ष भी नियुक्त किया गया है। समिति में मुख्यमंत्री मुकुल संगमा, विंसेट एच. हाला, जेम्स एस. लिंगदोह, डी.डी. लपांग, देबरा सी. मराक, एम.एम. दांगो, आर.सी. ललू, केनेडी सी. खिरियेम, चेरक डब्ल्यू. मोमिन, चार्ल्स पिंग्रोप, आर.वी. लिंगदोह और जोपलिन स्कॉट शायला भी शामिल हैं।

मेघालय में कांग्रेस को जोरदार झटका देते हुए पार्टी के पांच विधायकों समेत प्रदेश विधानसभा के आठ सदस्यों ने शुक्रवार को सदन से इस्तीफा दे दिया। ये सभी विधायक आगामी विधानसभा चुनाव में एनपीपी के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरने की तैयारी में हैं।

इस्तीफा देने वाले कांग्रेस विधायकों में पूर्व उपमुख्यमंत्री रॉवेल लिंगदोह, पूर्व कैबिनेट मंत्री प्रिसटन तिनसांग, कोमिंग वाईमबन, स्नियावभलंग धर और न्गैतलंग धर शामिल हैं। इन विधायकों ने विधानसभा के आयुक्त व सचिव एंड्र्यू साइमन को अपना इस्तीफा सौंपा।

कांग्रेस के पांच विधायकों के अलावा युनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी के विधायक रेमिंगटन पिंग्रोप और निर्दलीय होपफुल बमन और स्टीफेंसन मुखिम ने भी विधानसभा से इस्तीफा दे दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here