Home राज्य तमिल नाडु ‘कावेरी मुद्दे पर प्रधानमंत्री से मुलाकात नहीं होने पर सांसद दें इस्तीफा’

‘कावेरी मुद्दे पर प्रधानमंत्री से मुलाकात नहीं होने पर सांसद दें इस्तीफा’

चेन्नई| द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) नेता एम.के. स्टालिन ने शनिवार को कावेरी जल मामले में मुख्यमंत्री के. प्लनीस्वामी को सलाह देते हुए कहा कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य के सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात नहीं करते हैं तो तमिलनाडु के सांसदों को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

राज्य सचिवालय में पलनीस्वामी से मुलाकात के बाद उन्होंने कहा, “मैंने विधानसभा का सत्र बुलाने और प्रधानमंत्री से मुलाकात के लिए प्रस्ताव भी पारित करने का सुझाव दिया है।”

स्टालिन ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात करने से इंकार करना पूरे तमिलनाडु का अपमान है।

22 फरवरी को सर्वदलीय पार्टी और विभिन्न किसान संगठनों के बीच एक बैठक में तय हुआ था कि पलनीस्वामी की अगुवाई में एक प्रतिनिधिमंडल मोदी से मुलाकात करेगा और शीर्ष अदालत के आदेश के अनुसार कावेरी प्रबंधन बोर्ड और कावेरी जल नियामक समिति गठित करने की मांग करेगा।

स्टालिन के अनुसार, मुख्यमंत्री पलनीस्वामी ने उनसे कहा कि मोदी ने सुझाव दिया है कि तमिलनाडु के सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल को पहले जल संसाधन मंत्री से मुलाकात करना चाहिए।

स्टालिन ने कहा कि पलनीस्वामी के साथ बैठक के दौरान उन्होंने सोमवार तक प्रधानमंत्री कार्यालय से सूचना आने का इंतजार करने को कहा है। अगर पीएमओ से कोई संदेश नहीं आता है तो 8 मार्च को विधानसभा का सत्र बुलाकर मोदी से मुलाकात करने का प्रस्ताव पारित करना चाहिए।

स्टालिन के आरोप पर तमिलनाडु के मत्स्य मंत्री डी. जयकुमार ने कहा कि मोदी ने तमिलनाडु के सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात करने से इंकार नहीं किया है बल्कि पहले केंद्रीय जल संसाधन मंत्री से मुलाकात करने की सलाह दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here