Home न्यूज़ राष्ट्रीय महिला आयोग ने बिहार में मां-बेटी से दरिंदगी पर स्वत: संज्ञान...

राष्ट्रीय महिला आयोग ने बिहार में मां-बेटी से दरिंदगी पर स्वत: संज्ञान लिया

SHARE

नई दिल्ली :राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) ने शुक्रवार को बिहार के गया जिले में एक महिला और उसकी बेटी के साथ करीब 12 युवकों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म की रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना पर स्वत: संज्ञान लिया है।

आयोग ने अपने पत्र में कहा, आयोग जघन्य और घृणित प्रकृति के अपराध के लिए गंभीरता से चिंतित है, एनसीडब्ल्यू ने बिहार के डीजीपी को पत्र लिखा है और मामले में की गई कार्रवाई के बारे में तत्काल बताने के लिए कहा है।

गया के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के अनुसार, यह घटना बुधवार रात को सोंधिया गांव में हुई। पुलिस ने 20 युवकों को हिरासत में लिया है और इनमें से मुख्य आरोपी की पहचान के लिए पूछताछ कर रही है।

पुलिस ने कहा, इन युवकों ने अपनी पत्नी और बेटी के साथ मोटरसाइकिल से यात्रा कर रहे एक स्थानीय डॉक्टर को जबरदस्ती रोक लिया। डॉक्टर के पैर और हाथ को बांध दिया गया और उसे पास के खेत में छोड़ दिया गया, जबकि उसकी पत्नी और बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया।

इस वारदात ने उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर की ऐसी ही घटना की याद दिला दी। सपा राज में हुई इस घटना को भाजपा ने बड़ा मुद्दा बनाया था।

बिहार में इस तरह की दरिंदगी बढ़ती जा रही है, लेकिन इसे कोई जंगलराज पार्ट-3 नहीं कहता। ऐसा कहने वाले अब सत्ताधारी हो गए हैं, वह भी जनता की नहीं, बल्कि राजभवन की कृपा से।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here