Home राज्य बिहार तेजस्वी ने कहा- मनुवादी सोच के लोग बौखाला गए और नरसंहारों पर...

तेजस्वी ने कहा- मनुवादी सोच के लोग बौखाला गए और नरसंहारों पर उतर आए

SHARE

Rajpath Desk : राजनीतिक गलियारों में इन दिनों जाती के नाम राजनीति जोर शोर से की जारी है। बिहरा में भी अंबेडकर जयंती पर महागठबंधन के प्रमुख नेताओं ने गरीबों-दलितों की सहानुभूति-समर्थन लेने की कोशिशों के साथ-साथ एससी-एसटी एक्ट एवं आरक्षण का बचाव किया और राजनीतिक विरोधियों की जमकर खबर ली।

राजद-कांग्रेस एवं हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) नेताओं की मौजूदगी में शनिवार को श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने पिछड़े वर्गों के सामाजिक उत्थान में लालू प्रसाद के योगदान की चर्चा करते हुए 90 के दशक में नरसंहारों के दौर के लिए मनुवादी सोच को जिम्मेवार ठहराया।

तेजस्वी ने कहा कि लालू-राबड़ी की सरकार में दबे-कुचले लोगों को समान अधिकार दिया गया, जिसके कारण मनुवादी सोच के लोग बौखला गए और नरसंहारों पर उतर आए। तेजस्वी के मुताबिक गौर करने वाली बात है कि 90 के दशक में ही नरसंहार क्यों हुए, किसने किया।

तेजस्वी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर दलितों को बांटने का इल्जाम लगाया। आरक्षण की बात करते हुए तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार ने उनके पिता का डायलॉग चुरा लिया है। लालूजी ही कहते थे कि कोई माई का लाल नहीं, जो आरक्षण खत्म कर दे। अब वही बात सीएम दोहरा रहे हैं। उन्होंने भाजपा और आरएसएस को गरीबों, पिछड़ों और कमजोरों का दुश्मन करार दिया।

कार्यक्रम को जगदानंद सिंह, कांति देवी, असफाक करीम एवं मनोज झा ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन विधायक शिवचंद्र राम और अध्यक्षता रामचंद्र पूर्वे ने की। मौके पर भोला यादव, मंगनीलाल मंडल, तनवीर हसन, संतोष मांझी, अशरफ फातमी, रामानंद यादव एवं चितरंजन गगन समेत कई नेता मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here