Home न्यूज़ तेलंगाना ने उल्लास से मनाया राज्य गठन दिवस

तेलंगाना ने उल्लास से मनाया राज्य गठन दिवस

SHARE

हैदराबाद : तेलंगाना ने शनिवार को अपना चौथा राज्य गठन दिवस मनाया। इस मौके पर मुख्यमंत्री कल्बकुंतल चंद्रशेखर राव ने कहा कि उनका लक्ष्य किसानों को ऋण के जाल से मुक्त कराना है।

राज्य की राजधानी के परेड मैदान में मुख्य आधिकारिक जश्न मनाया गया, जहां मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया और पुलिस की रंगारंग परेड का निरीक्षण किया।

राज्य सरकार में मंत्री, सांसद, विधायकों और अन्य जन प्रतिनिधियों ने जिलों में तिरंगा फहराया, जबकि सरकारी कार्यालयों में उत्साह के साथ इस दिन को मनाया गया। सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) और विपक्षी दलों ने भी अपने-अपने कार्यालयों पर इस दिन का जश्न मनाया।

ऐसा पहली बार हुआ, जब तेलंगाना गठन दिवस स्कूलों में भी मनाया गया। इसके लिए सरकार ने गर्मियों की छुट्टियों में कटौती कर दी, ताकि एक जून को स्कूल खुले रहें।

लंबे जनसंघर्ष के बाद 2014 में तेलंगाना, आंध्र प्रदेश से अलग होकर देश का 29वां राज्य बना था।

केसीआर नाम से मशहूर टीआरएस प्रमुख ने कहा कि उनकी सरकार ने लोगों की मदद के लिए पिछले चार वर्षों के दौरान कई कल्याणकारी योजनाएं लागू की हैं। उन्होंने समाज के विभिन्न वर्गों के कल्याण के लिए शुरू किए गए कार्यक्रमों को सूचीबद्ध किया।

उन्होंने किसानों के लिए शुरू की गई योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया, विशेषकर हाल ही में शुरू की रायतू बंधु योजना, जिसके अंतर्गत फसल निवेश समर्थन के रूप में किसानों को प्रति वर्ष 8,000 रुपये प्रति एकड़ दिए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि इस योजना ने किसानों के चेहरों पर मुस्कान ला दी है, उन्हें अब खेती के लिए धन उधार पर लेने की जरूरत नहीं है।

केसीआर ने कहा, 15 अगस्त से सरकार राज्य के किसानों को पांच लाख रुपये का बीमा कवर मुहैया कराएगी। सरकार प्रत्येक किसान का प्रतिवर्ष 2,271 रुपये का प्रीमियम देगी और बीमाकृत किसान की आकस्मिक या प्राकृतिक मौत के मामले में नामांकित व्यक्ति को पांच लाख रुपये का भुगतान किया जाएगा।

उन्होंने कहा, इस बीमा योजना के लिए भी किसानों को एक रुपये का भुगतान नहीं करना होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि टीआरएस सरकार गोदावरी और कृष्णा नदियों पर सिंचाई परियोजनाओं के निर्माण के कार्य में लगी है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि कालेश्वर परियोजना तेलंगाना की जीवन रेखा बनेगी। उन्होंने दावा किया कि इस तरह की गति और आधुनिक तकनीक के साथ देश के किसी अन्य राज्य में सिंचाई परियोजना नहीं बनाई जा रही है।

तेलंगाना विधानसभा अध्यक्ष मधुसूदन चैरी और राज्य विधान परिषद के अध्यक्ष स्वामी गौड़ ने विधानमंडल परिसर में राज्य गठन दिवस समारोह में भाग लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here