Home न्यूज़ सीसीआई ने आरइन्फ्रा-एटीएल करार को दी मंजूरी

सीसीआई ने आरइन्फ्रा-एटीएल करार को दी मंजूरी

SHARE

मुंबई। भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्च र (आरइन्फ्रा) को मुंबई में बिजली कारोबार अडानी ट्रांसमिशन लिमिटेड को बेचने को लेकर मंजूरी दे दी है। आरइन्फ्रा ने सोमवार इसकी घोषणा की।

आरइन्फ्रा ने एक विज्ञप्ति में कहा कि कंपनी ने मुंबई में अपना बिजली कारोबार बेचने को लेकर दिसंबर 2017 में एक करार पर हस्ताक्षर किए थे। यह सौदा मार्च तक पूरा हो जाएगा।

कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि सीसीआई ने आरइन्फ्रा को मुंबई में अपना बिजली कारोबार अडानी ट्रांसमिशन लिमिटेड (एटीएल) को बेचने को लेकर मंजूरी दे दी है।

भारत में किसी कॉरपोरेट की ओर से की गई अब तक की सबसे बड़ी कर्ज कटौती की घोषणा करते हुए आरइन्फ्रा ने दिसंबर में कहा था कि इसने मंबई में अपना सौ फीसदी बिजली कारोबार एटीएल को बेचने के निर्णायक करार पर हस्ताक्षर किए हैं, जिसका कुल प्रतिफल 18,800 करोड़ रुपये है।

करार के तहत रिलायंस इनर्जी की मुंबई पॉवर युटिलिटी की बिक्री का कुल मूल्य 13,251 करोड़ रुपये, नियामक परिसंपत्तियां अनुमानित 5,000 करोड़ रुपये और अंतिम अनुमानित शुद्ध कार्यशील पूंजी 550 करोड़ रुपये आरइन्फ्रा को मिलेगी।

सौदे का कुल मूल्य 13,251 करोड़ रुपये है, जिसमें कारोबार मूल्य 12,101 करोड़ रुपये और अब तक मंजूर की गई नियामक परिसंपति 1,150 करोड़ रुपये शामिल है।

रिलायंस इन्फ्रा का मुंबई में बिजली का कारोबार भारत में निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा बिजली वितरण कारोबार है, जो 400 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में 30 लाख आवासीय, औद्योगिक व व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के उपभोक्ताओं को बिजली मुहैया करवाता है।

मुंबई युटिलिटी की अधिकतम मांग 1,800 मेगावाट है और इसका सालाना राजस्व 7,500 करोड़ रुपये है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here