Home न्यूज़ तस्करी का प्रवेश द्वार बना बिहार, छापेमारी में चीन निर्मित 972 स्मार्ट...

तस्करी का प्रवेश द्वार बना बिहार, छापेमारी में चीन निर्मित 972 स्मार्ट फोन बरामद

SHARE

पटना। बिहार, उत्तर-पूर्व के राज्यों से चीन निर्मित सामानों की तस्करी का प्रवेश द्वार बनने लगा है। मंगलवार को कस्टम विभाग की पटना टीम ने राजधानी के गांधी मैदान स्थित ट्विन टावर के एक प्लैट में छापेमारी कर चीन निर्मित 972 स्मार्ट फोन बरामद किए हैं। बरामद स्मार्टफोन की कीमत 20 लाख रुपये आंकी जा रही है।

बता दें कि पिछले पांच दिनों में यह चौथा मौका है जब कस्टम की टीम ने उत्तर-पूर्व के राज्यों से बिहार आने वाली ट्रेन व गया के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से लाखों रुपये की तस्करी का माल पकड़ा है। कस्टम विभाग के मुख्य आयुक्त केसी गुप्ता ने स्वीकार किया कि उत्तर-पूर्व के राज्यों से हाल के दिनों में तस्करी के कई मामले पकड़े गए हैं।

विगत रविवार को गया अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा से मो. गुलाम सरवर नामक एक व्यक्ति को 1.6 किलोग्राम सोने के बिस्कुट और सोने की छड़ के साथ पकड़ा गया था। जांच में पता चला है कि पकड़ा गया शख्स विगत जून से इस साल फरवरी के बीच कुल आठ बार कंबोडिया और थाइलैंड की यात्रा कर चुका है।

इस तस्कर ने सोने की तस्करी के लिए एक नायाब तरीका अपना रखा था। अपने ट्रॉली बैग के हैंडल में इसने एक ऐसा गुप्त स्थान बना रखा था जिसमें सोने की बिस्कुट और छड़ों को छुपाकर लाता था। सोने पर इस तरह के टेप चढ़ाए जाते थे कि लगेज एक्सरे में सोना नजर नहीं आता था।

कस्टम की टीम ने मो. गुलाम सरवर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। गुप्ता ने बताया कि विगत 8 फरवरी को पाटलिपुत्र स्टेशन पर खड़ी नॉर्थ-ईस्ट ट्रेन के एसएलआर बोगी से 1900 किलोग्राम कालीमिर्च और 540 जोड़े एडिडास व नाइक के विदेशी जूते भी बरामद किए गए थे।

बरामद कालीमिर्च व विदेशी जूते की कीमत 44 लाख रुपये आंकी गई है। इसी तरह, विगत 9 फरवरी को भी पाटलिपुत्र स्टेशन पर नॉर्थ-ईस्ट ट्रेन से ही 600 किलोग्राम कालीमिर्च, 972 जोड़े विदेशी जूते और कोरिया निर्मित चार कार्टन सिगरेट बरामद किए गए थे। बरामद सामग्री की कीमत 25.60 लाख रुपये आंकी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here