Home राज्य बिहार रोजगार: शिक्षक बनने का सुनहरा अवसर, बिहार सरकार ने 4257 अतिथि शिक्षकों...

रोजगार: शिक्षक बनने का सुनहरा अवसर, बिहार सरकार ने 4257 अतिथि शिक्षकों की सेवा लेने का लिया फैसला

रोजगार: शिक्षक बनने का सुनहरा अवसर, बिहार सरकार ने 4257 अतिथि शिक्षकों की सेवा लेने का लिया फैसला

BIHAR : प्रदेश के हाई स्कूल और प्लस टू स्कूल के विद्यार्थियों को अंग्रेजी, गणित, भौतिकी और रसायन शास्त्र जैसे विषयों की शिक्षा देने के लिए सरकार ने 4257 अतिथि शिक्षकों की सेवा लेने का फैसला लिया है। इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है।

सरकार ने आदेश में कहा है कि माध्यमिक शिक्षा के तहत जिला परिषद एवं विभिन्न नगर निकायों में अवस्थित राजकीय, राजकीयकृत, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के तहत उत्क्रमित उच्च माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षक नियोजन होने तक संबंधित शिक्षकों की सेवा एक हजार रुपए प्रतिदिन, महीने में अधिकतम 25 हजार के पारिश्रमिक पर प्राप्त की जा सकेगी।

शिक्षकों का बीएड होना आवश्यक

अतिथि शिक्षक छात्रों को कुल छह विषयों की शिक्षा देंगे। इनमें अंग्रेजी, गणित, भौतिकी, रसायनशास्त्र, प्राणीशास्त्र और वनस्पतिशास्त्र हैं। मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से पचास फीसद अंकों के साथ स्नातकोत्तर और बीएड अथवा माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (पेपर – 2) में उतीर्ण अभ्यर्थियों को प्राथमिकता दी जाएगी। गणित भौतिकी एवं रसायन शास्त्र विषयों के लिए योग्य अभ्यर्थी के लिए आर्हता न्यूनत 55 फीसद अंकों के साथ बीटेक अथवा एमटेक रखी गई है।

विद्यालयों में रिक्त पदों के आधार पर आरक्षण रोस्टर बनाकर संबंधित जिलों के शिक्षा पदाधिकारियों से अनुमोदन प्राप्त किया जा सकेगा। इसके लिए जिला शिक्षा पदाधिकारी विज्ञापन जारी करेंगे। शिक्षा पदाधिकारी के अनुमोदन पर स्कूल के प्रिंसिपल अतिथि शिक्षक की सेवा ले सकेंगे।

अतिथि शिक्षकों को पारिश्रमिक के रूप में प्रतिदिन एक हजार रुपये दिए जाएंगे। परन्तु यह राशि महीने में 25 हजार रुपये से अधिक नहीं होगी। भुगतान के लिए राशि स्कूलों को दी जाएगी और स्कूल के माध्यम से ही शिक्षकों को पारिश्रमिक का भुगतान किया जा सकेगा।

विषयवार शिक्षकों की संख्या :

– अंग्रेजी- 1041

– गणित – 791

– भौतिकी – 1024

– रसायन शास्त्र – 974

– प्राणी शास्त्र – 137

– वनस्पति शास्त्र – 290

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here